जीवन का रात्रि काल

हम अपने जीवन के प्रत्येक चरण में जीवन के अलग अलग कालों (मौसमों) का अनुभव करते हैं| हमारे जीवन के कुछ अद्भुत कालों (मौसमों) के बीच हम समय की अवधि के माध्यम से जा सकते हैं और उसे हम रात्रिकाल कह सकतें है इस पुस्तक में उन प्रश्नों के उत्तर दिए गए हैं जो हमारे पास इस काल में हो सकते हैं और हमें कठिन परिस्थितियों के बीच सही रवैया रखने के लिए प्रोत्साहित करतें हैं, क्योंकि हमारी आशा मसीह में हैं |
© ऑल पीपुल्स चर्च एंड वर्ल्ड आउटरीच, बैंगलोर, इंडिया
ऑल पीपुल्स चर्च एक पंजीकृत निकाय है, जो सब रजिस्ट्रार, बैंगलोर, कर्नाटक राज्य, भारत, पंजीकरण संख्या 110/200102 के साथ पंजीकृत है।
Go to English website