आशा न छोड़

हमारे जीवनों में कभी-कभी, अनपेक्षित मोड़ आते है। हम अचानक अपने आपको निराशाजनक परिस्थितियों में पाते हैं - हमारी नौकरियां, करियर, शिक्षा, घर, वैवाहिक जीवन या परिवार। सबकुछ निराशाजनक लगते हुए भी, हम विजयी होते हैं। यह पुस्तक प्रोत्साहन के सरल शब्द प्रस्तुत करती है और हमें उत्साहित करती है कि हम आशा न खोएं। आशा न खोएं।
© ऑल पीपुल्स चर्च एंड वर्ल्ड आउटरीच, बैंगलोर, इंडिया
ऑल पीपुल्स चर्च एक पंजीकृत निकाय है, जो सब रजिस्ट्रार, बैंगलोर, कर्नाटक राज्य, भारत, पंजीकरण संख्या 110/200102 के साथ पंजीकृत है।
Go to English website